Sale!
Five Mukhi Rudraksha ( पांच मुखी रुद्राक्ष )

Five Mukhi Rudraksha ( पांच मुखी रुद्राक्ष )

  • 5 मुखी रुद्राक्ष शुभ बृहस्पति को आकर्षित करता है और इसके अशुभ प्रभावों से बचाता है।
  • पंच मुखी रुद्राक्ष जीवन के सभी सुखों और विलासिता का आनंद लेने में मदद करता है।
  • यह अकाल मृत्यु से बचाता है।
  • यह विचारों और जीवन में आशावाद लाता है।
  • यह पाचन समस्याओं को ठीक करने और अनिद्रा से लड़ने में मदद करता है

1,499

सभी के लिए अच्छा – 5 मुखी रुद्राक्ष आपके साहस को बढ़ाएगा।

5 मुखी रुद्राक्ष, जिसे पंचमुखी रुद्राक्ष के नाम से भी जाना जाता है, बृहस्पति ग्रह के सकारात्मक तरंगों को आकर्षित करता है। यह पहनने वाले को बहुतायत और समृद्धि का आशीर्वाद देता है। यह आपको जीवन के सभी सुखों और विलासिता का आनंद लेने में मदद करता है। यह आपके चारों ओर एक सुरक्षात्मक आभा बनाता है, जो आपको असामयिक मृत्यु से बचाता है। 5 मुखी रुद्राक्ष बहुत शक्तिशाली मनका है और इसे कोई भी धारण कर सकता है। इसलिए, यदि आप शांति और समृद्धि चाहते हैं, तो पांच मुखी रुद्राक्ष आपके लिए एकदम सही है। रुद्राक्ष का अधिकतम लाभ प्राप्त करने में आपकी मदद करने के लिए हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको असली और प्राकृतिक रुद्राक्ष मिलें।

आपको ज्यादा लाभ मिले, इसके लिए पांच मुखी रुद्राक्ष को माई पंडित के विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा वैदिक अनुष्ठानों के जरिए सक्रिय और सिद्ध किया जाता है।

  • पांच मुखी रुद्राक्ष आपको सशक्त और बृहस्पति ग्रह को प्रसन्न करने में मदद करता है।
  • यह आपकी जन्म कुंडली में गुरु की कमजोर स्थिति के कारण होने वाले हानिकारक प्रभावों से आपकी रक्षा करता है।
  • आपको अधिकतम लाभ मिले, इसके लिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा सख्त वैदिक अनुष्ठानों का उपयोग कर एक पंच मुखी रुद्राक्ष को सिद्ध और अनुकूलित किया जाता है।
  • mypandit.com 100% मूल और लैब-प्रमाणित एक मुखी रुद्राक्ष प्रदान करता है।
  • 100% प्रामाणिकता की गारंटी।

पंच मुखी रुद्राक्ष कैसे काम करता है?

  • रुद्राक्ष स्वयं भगवान शिव का प्रतीक है। यह रुद्र, जिसका अर्थ है भगवान शिव, और अक्ष का अर्थ है आंखें / आंसू, शब्द से मिलकर बना है, इसलिए रुद्राक्ष का अर्थ शिव के आंसू हैं।
  • रुद्राक्ष में ब्रह्मांड की महत्वपूर्ण ऊर्जा और विशेष उपचार शक्तियां शामिल हैं।
  • रुद्राक्ष के प्रभाव और लाभ प्राचीन काल से कई वैदिक शास्त्रों में वर्णित हैं। इसमें जैव-चुंबकीय गुण होते हैं जो अच्छी ऊर्जाओं को जागृत और आमंत्रित करते हैं।
  • ये ऊर्जाएं आपके व्यक्तित्व, दृष्टिकोण, करिश्मा, चरित्र और आत्मविश्वास के स्तर को बेहतर बनाने में आपकी मदद करती हैं। साथ ही, वे आपके जीवन में शांति और सद्भाव लाते हैं।
  • एक मुखी रुद्राक्ष धारण करना भगवान शिव और देवी महालक्ष्मी के आशीर्वाद का आह्वान करने का सबसे आसान तरीका है।
  • इसमें शक्तिशाली ऊर्जाएं हैं जो आपको शांतिपूर्ण और सफल जीवन जीने में मदद करती हैं।

शिपिंग डिटेल

सभी शिपमेंट प्रतिष्ठित कूरियर सेवाओं के माध्यम से भेजे जाते हैं जो भारत के भीतर 3-7 कार्य दिवस और अंतरराष्ट्रीय शिपिंग के लिए 7-15 कार्य दिवस लेते हैं।

उत्पादों में उपयोग की गई इमेज केवल संदर्भ (रेफरेंस)  के लिए हैं।

मुझे आपसे पांच मुखी रुद्राक्ष क्यों खरीदना चाहिए?

एक सामान्य व्यक्ति के लिए रुद्राक्ष की गुणवत्ता और प्रामाणिकता का निर्धारण करना अत्यंत कठिन है। साथ ही, रुद्राक्ष को सिद्ध करने की आवश्यकता है, ताकि आपको अधिकतम लाभ मिल सकें। हम आपको सर्वोत्तम मूल्य पर 100% वास्तविक और प्रयोगशाला-प्रमाणित एक मुखी रुद्राक्ष प्रदान करते हैं। इसके अलावा, यह हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा वैदिक मंत्रों से सिद्ध और सक्रिय है।

रुद्राक्ष क्या है?

पारंपरिक रुप से रुद्राक्ष को शिवजी का आंसू माना जाता है। रुद्राक्ष एक दुर्लभ पवित्र मनका है (रुद्राक्ष प्राकृतिक रुप से पेड़ों पर फलता है यानी यह एक प्लांट प्रोडक्ट है), और कहा जाता है कि यह भगवान शिव का प्रतिनिधित्व करता है। रुद्राक्ष का वानस्पतिक नाम एलियोकार्पस गनीट्रस रोक्सब है।

रुद्राक्ष कौन धारण कर सकता है?

रुद्राक्ष, पुरुष, महिला और बच्चे सभी के लिए सुरक्षित और अच्छा है। हालांकि रुद्राक्ष को धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी से परामर्श करने की सलाह दी जाती है। आप अपनी जन्म कुंडली के आधार पर उपयुक्त रुद्राक्ष के बारे में जानने के लिए माई पंडित के विशेषज्ञ ज्योतिषियों से परामर्श कर सकते हैं।

क्या रुद्राक्ष का कोई नकारात्मक प्रभाव पड़ता है?

नहीं, रुद्राक्ष कोई नकारात्मक ऊर्जा नहीं पैदा करता है (और, इसलिए इसका हानिकारक प्रभाव नहीं होता है)। रुद्राक्ष मनका भगवान शिव का प्रतीक है और अनंत ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करता है। हालांकि, इन पवित्र मोतियों पर ग्रहों का प्रभाव पड़ता है। रुद्राक्ष की माला के नकारात्मक दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। याद रखें, विभिन्न रुद्राक्ष रूपों के अलग-अलग लाभ हैं, इसलिए, किसी समस्या की तीव्रता या समस्या के प्रकार के अनुसार पहनने की सलाह दी जाती है।